स्कूल स्टूडेंट से फीस प्राप्त करने का अनौखा तरीका?

इस वक़्त अगर किसी स्कूल के लिए सबसे बड़ी समस्या है तो वो है स्टूडेंट फीस प्राप्त ना होने के कारण स्कूल खर्च की व्यवस्था डगमगा जाना। बारह सौ से ज्यादा स्कूलों के डायरेक्टर से लगातार तीन महीने संपर्क में रहने के बाद हमें जो सबसे चिंताजनक आंकड़े मिले वो हैं स्कूल की फीस से सम्बंधित।

मतलब ये की स्कूल फीस प्राप्त करने के लिए भरसक प्रयास कर रहें हैं क्योंकि स्कूल का लाखों रूपये का खर्च भी चलाना है लेकिन वर्तमान स्थति में परिजनों का भी व्यवसाय या नौकरी अनिश्चितकाल के लिए समस्या का सामना कर रहे हैं।

ऐसा नहीं है की फीस देना नहीं चाहते लेकिन दो बातें हम सबको जानना बहुत जरुरी हैं। पहली ये की असामान्य स्थति में कोई भी इंसान अपनी मूलभूत अवस्यक्ताओं की पूर्ती के लिए अपना पैसा सुरक्षित ही रखना चाहता है और दूसरी बात ये की किसी भी सेवा का शुल्क उसकी वैल्यू यानि अहमियत पर भी निर्भर करता है और अगर किसी समय उस सेवा का महत्व या मूल्य घट जाये तो उसका शुल्क भी या तो घट जाता है या ग्राहक उस सेवा को समाप्त ही कर देता है चाहे कुछ समय के लिए ही सही। कभी-कभी ग्राहक सेवा प्रदाता को ही बदल देता है अगर उसका सेवा प्रदाता उस निश्चित समय के अनुसार खुदकी सेवाओं को परिवर्तित करने में असमर्थ हो।

उदहारण के लिए इस वक़्त जब स्कूल में सामान्य कक्षाएं लगने का कोई विकल्प नहीं था तो कुछ स्कूलों ने बहुत ही सूझबूझ से अपने स्टूडेंट को ऑनलाइन कक्षाएं देने का भरसक प्रयास किया लेकिन पहले से जिन्हे तकनीकी ज्ञान या अनुभव कम था वो स्कूल ऐसा करने में चाहकर भी असमर्थ रहे। इसी कारण वो अपने स्टूडेंट को दी जाने वाली शिक्षा वैल्यू उतनी नहीं बना पाए जितना उसका शुल्क था। अब हम खुद ही इस बात की जाँच कर सकते हैं की हमारे स्कूल ने क्या हमारे शुल्क के बराबर वैल्यू अपने स्टूडेंट को प्रदान की या नहीं ?

अगर हमारा जवाब ना है तो बिना सेवा के ग्राहक से सेवा शुल्क मिलने का सवाल ही नहीं बनता लेकिन अगर हमारा जवाब हाँ है तो कुछ अचूक तरीके हैं जिनसे स्कूल अभी भी शुल्क प्राप्त कर सकते हैं जैसे:

1. पेमेंट गेटवे का इस्तेमाल करना

सबसे पहले तो इस कार्य को पूरा करना सभी स्कूल के लिए इस वक़्त बहुत जरुरी है की उनके पास स्कूल का ऑनलाइन पेमेंट लिंक हो जिसको मैसेज या व्हाट्सप्प पर शेयर करके स्टूडेंट से घर बैठे फीस प्राप्त की जा सके। ध्यान रहे कोई भी सॉफ्टवेयर या ऑनलाइन सर्विस भारतीय हो तो ज्यादा सुरक्षित है और साथ में इसका सेटअप करना भी आसान हो तो टेक्निकल अनुभव ना होने पर भी ये काम 5 मिनट में फ्री में किया जा सकता है। अगर आप ऐसा भारतीय पेमेंट गेटवे हमसे पूछना चाहें तो हम खुद इस लिंक पर दिए गए पेमेंट गेटवे का इस्तेमाल करते हैं : लिंक: https://imjo.in/GyQEYc

 

 

2. ऑनलाइन पेड टूशन कैटलॉग बनाना

 फीस प्राप्त करने का लिंक बनाने के बाद दूसरा काम है अपनी क्लासेज को टीचर से फोन में रिकॉर्ड करवाके किसी अच्छी लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम वेबसाइट पर उनको एक टूशन फीस के साथ प्रोडक्ट की तरह बेचना ताकि स्टूडेंट मासिक फीस ना भी दे तो जिस सब्जेक्ट की पढाई घर बैठे करना चाहे केवल उसका टूशन शुल्क चुकाकर उस ऑनलाइन कोर्स का इस्तेमाल कर सके।

जब भी कोई स्टूडेंट इन सब्जेक्ट वाइज बनाये गए कोर्स कैटलॉग को ज्वाइन करेगा तो उनको इसका ऑनलाइन शुल्क देना ही होगा। बस आपको इतना करना है की किसी भारतीय वेबसाइट पर अगर ऐसी सुविधा हो तो क्लास अपलोड करके बस उसका लिंक शेयर करना है। हमारे संपर्क में ऐसी भारतीय वेबसाइट जो फ्री भी है वो है डिजिटल स्कूल ऍप डॉट कॉम जिसका लिंक यहाँ दिया गया है। लिंक : https://digitalschoolapp.com/online-classes/

नोट : यूट्यूब पर प्रति वीडियो क्लास शुल्क लेने की या पूरा सिलेबस तैयार करने की सुविधा नहीं है अन्यथा यह भी बेस्ट वेबसाइट है।

विशेष: कुछ स्कूल किसी और की बनाई हुई ऑनलाइन क्लास का भी इस्तेमाल कर रहे है लेकिन ध्यान रहे ऐसे स्कूल अपना ही नुकसान कर रहे हैं क्योंकि जिसका भी स्टूडेंट सिलेबस पढ़ेगा उसी टीचर के बताये स्कूल में वो एडमिशन लेगा। आपके स्कूल की अपनी अलग पहचान है और हमारा आपसे आग्रह है की उस पहचान को कायम रखें और किसी बाहर के व्यक्ति का वीडियो या सिलेबस अपने स्टूडेंट को ना भेजें अन्यथा समझदार को इशारा ही काफी है।

3. ऑनलाइन स्कूल मैनेजमेंट करना

पेमेंट लिंक और सब्जेक्ट वाइज टूशन फीस के साथ कोर्स लिंक बनाने के बाद तीसरा काम है किसी अच्छे से स्कूल मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके जल्दी से पुरे स्कूल को ऑनलाइन भविष्य के लिए या आज जैसी किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार करना। क्योंकि अब माँ-बाप ये समझ जायेंगे की कौनसा स्कूल सचमे बेस्ट है और कौनसा ऐसी परिस्थितियों में शिक्षा देने में असमर्थ है। इससे असमर्थ स्कूलों के आवेदन भी अब बहुत तेजी से घटेंगे और साथ ही साथ परिजन डायरेक्टर की भविष्य की सोच का भी आकलन करते हुए बहुत अधिक मात्रा में अपने बच्चों को तकनिकी असमर्थ स्कूल से हटाकर समर्थ  स्कूल में भेजना शुरू करेंगे।

एक स्कूल मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर जो भारतीय कंपनी से हो (देश हित ), भारत में बना हो (देशभक्ति) , भारत में उसके सर्वर हों (आपके डाटा की सुरक्षा) और ऑनलाइन मैनेजमेंट (आप कहीं से भी स्कूल चला सकें) के साथ आपके स्टूडेंट के लिए ऍप (स्टूडेंट पर पूरा नियंत्रण और वैल्यू) भी देता हो तो बेस्ट है।

इसके अलावा स्कूल मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर में ऑनलाइन क्लास के साथ-साथ ऑनलाइन फीस पेमेंट, ऑनलाइन रिजल्ट, ऑनलाइन उपस्थिति, ऑनलाइन एडमिशन, अकाउंट मैनेजमेंट, लाइब्रेरी मैनेजमेंट, ऑनलाइन परीक्षा, एडमिट कार्ड, ऑनलाइन टाइम टेबल, ऑनलाइन रिजल्ट, ऑनलाइन मार्कशीट, ऑनलाइन ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट, ऑनलाइन ऑटोमेटिक बैकअप जैसी सुविधाएँ होना बहुत जरुरी हैं क्योंकि ये चीजें बार-बार नहीं खरीदी जाती। आपकी सुविधा के लिए हमने यहाँ ऐसे सॉफ्टवेयर की पूरी जानकारी और डेमो के लिए लिंक दिया है।

लिंक : https://nutanbharat.com/features/

4. स्टूडेंट को ऍप से सभी सेवांए देना

वैसे तो 4-5 अलग-अलग ऍप से भी स्कूल के उपरोक्त सभी काम किये जा सकते हैं लेकिन नूतन भारत डॉट कॉम अपने स्कूल मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर के साथ स्टूडेंट के लिए ऍप भी देता है जिसमे स्टूडेंट के लिए तीसरे बिंदु में बताई गयी सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। जब हम अपने स्टूडेंट को अपने स्कूल की तरफ से स्पेशल एप्प देंगे तो स्कूल की वैल्यू तो बढ़ती ही है साथ-साथ स्टूडेंट को जरुरी सुविधाएँ भी किसी भी परिस्थिति में घर बैठे मिलती रहती है और आपके स्कूल में कर्मचारियों का काम भी आसान व कम हो जाता है। स्टूडेंट ऍप चलाकर देखने के लिए डेमो यूजर आई डी : stu1 व पासवर्ड : stu1 (इससे लॉगिन न हो तो कृपया लेख के अंत में दिए नंबर पर संपर्क करें।)

स्टूडेंट डेमो ऍप डाउनलोड लिंक : https://play.google.com/store/apps/details?id=com.nutanbharat

 

5. ऑनलाइन एडमिशन की व्यवस्था करना

2020 की शुरुवात से ही एक बात तो साफ हो गयी की अब डिजिटल युग की शुरुवात हो चुकी है और इंटरनेट सिर्फ एक विकल्प ही नहीं बल्कि जरुरत बन गया है। जो स्कूल जितनी जल्दी डिजिटल होगा उतने ही फायदे में होगा यह एक साधारण गणित है। इसके बाद भी जो परिवर्तन में संकोच करेंगे उनके लाभ या हानि के वो खुद ही जिम्मेदार होंगे। ऑनलाइन एडमिशन का लिंक डिजिटल स्कूल ऍप पर फ्री में बनाया जा सकता है और यहाँ निशुल्क ही टीचर की भर्ती का विज्ञापन भी दिया जा सकता है जिसका लिंक हमने यहाँ दिया है। फ्री ऍप डाउनलोड लिंक : https://play.google.com/store/apps/details?id=com.app.englishbolegaschool

निवेदन : एक भारतीय होने के नाते और शिक्षा जगत से जुड़े होने के नाते अपने देश के शिक्षा तंत्र को मैं कमजोर पड़ते नहीं देख सकता इसीलिए ऊपर दिए गए सभी सॉफ्टवेयर तथा स्कूल से सम्बंधित निशुल्क सेवाओं का समावेश यहाँ करने का प्रयास किया है।

उम्मीद करता हूँ की आपको इस लेख के माध्यम से मेरे बारह सौ से ज्यादा स्कूलों के संपर्क में आने का अनुभव कुछ काम आएगा। यदि आपको मुझसे सीधे कुछ जानकारी प्राप्र्त करनी हो तो कृपया मुझे इस नंबर पर केवल व्हाट्सप्प मैसेज से संपर्क करें आपके हर सुझाव तथा सवाल का जवाब मैं अतिशीघ्र देने का प्रयास करूँगा। धन्यवाद।

लेखक : रवि कुमार (फाउंडर एंड चैयरमेन : ई बी एडुटेक प्राइवेट लिमिटेड, भारत)

संपर्क : +91 9414314354 (आग्रह: केवल व्हाट्सप्प मैसेज)

Website: Englishbolega.com